Pitru Paksha 2020:पितृ दोष के लक्षण और उसके चुटकारा पाने का अचूक उपाय

Pitru Paksha 2020:पितृ दोष के लक्षण और उसके चुटकारा पाने का अचूक उपाय

पितृ दोष मनुष्य की कुंडली में मौजूद कई तरह के दोषों में से एक होता है। जिस भी व्यक्ति की कुंडली में पितृ दोष होता है वह जीवन में कठिनाइयों और बहुत सारे उतार-चढ़ाव का अनुभव करता है। बहुत जरूरी है कि आप पितृ दोष के लक्षण को समझें और पितृ दोष निवारण के लिए उपाय करें।

पितृ दोष आपकी जन्म कुंडली द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। यदि आपकी कुंडली में सूर्य या चंद्रमा के साथ दो ग्रह राहु-केतु में से एक है; तब इसे कुंडली में पितृ दोष कहा जाता है। इस साल के सितंबर महीने से पितृ पक्ष शुरू हो रहा है।हिंदू धर्म में पितरों के श्राद्ध के रूप में मनाया जाता है। इन दिनों, पितरों की आत्मा को शांति प्रदान करने के लिए, परिवार में उनकी पूजा की जाती है। कई लोग इन दिनों शांति दान और पितृ दोष शांति के लिए भी विशेष कार्य करते हैं।

जानिए क्या है पितृ दोष:

पितृ दोष (pitra dosh) पूर्वजों का कर्म ऋण है और कुंडली में ग्रहों के संयोजन के रूप में परिलक्षित होता है।

यह पूर्वजों की उपेक्षा और श्राद्ध या दान या आध्यात्मिक उत्थान के रूप में उनके उचित प्रदान नहीं करने के कारण कुंडली में पितृ दोष (pitra dosh in kundli) हो सकता है।

पितृ दोष के कारण होने वाली समस्याएं:

पितृ दोष से होने वाली समस्या पितृ दोष के लक्षण (pitra dosh ke lakshan)  के ऊपर निर्भर हे।जिस तरिकता समस्या होगी उसीके आधार पे पितृ दोष के उपाय (pitra dosh ke upay) होगा।

  • आपको कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • अक्सर घर में कोई न कोई बीमार रहता है।
  • घर के बच्चों में हमेशा मनमुटाव रहता है।
  • बच्चों के जन्म में देरी।
  • व्यवसाय में कोई लाभ नहीं है, उधार बहुत अधिक है।
  • पैसा उधार में डूब जाता है या बर्बाद हो जाता है।
  • परिवार में झगड़ा, विरोध और मानसिक परेशानियाँ हैं।
  • शादी करने और शादीशुदा जिंदगी में भी परेशानियां आती हैं।

पितृ दोष की शांति के उपाय:

पितृ दोष से छुटकारा या(pitra dosh remedies) के उपाय जाना केलिए आपको एक अचे से जाने बाले ज्योतिष ता सहायता लेना होगा 

  • पितृ पक्ष में पितरों का श्राद्ध जरूर करें। किसी अच्‍छे पंडित को अप्प के
    कुंडली में पितृ दोष (pitra dosh in kundli) हे या नहीं देखने केलिए बोले और आगरा हे तो पितृ दोष के प्रकार के अनुसार पितृ दोष शांति का उपाय अपनाएं।
  • यदि आप भगवान शिव और माता पार्वती की नियमित पूजा करते हैं तो भी समस्‍त प्रकार के पितृ दोष से होने वाले संकट टल जाते हैं क्यों की यो पितृ दोष मंत्र (pitra dosh mantra) की काम करतह।
  • प्रतिदिन दुर्गा सप्तशती या सुन्दर काण्ड का पाठ करने से भी यह दोष कम हो जाता है।
  • हर सुबह सूर्य को तांबे के लोटे से जल अर्पित करें और लाल फूल चढ़ाएं। इससे भी पितृ दोष के कारण भविष्‍य में आने वाला संकट टल जाएगा।
  • अपने मृतक रिश्तेदारों के लिए मंदिर या ब्राह्मणों को दान करें।
  • हर शनिवार उड़द के आटे के साथ काले कुत्तों को खिलाएं।
  • पीठासीन देवता और प्रतिदिन देवता की पूजा करने से भी दोष में कमी आती है।

यदि आप या आपके परिवार के सदस्य विशेष रूप से बच्चों के साथ कई अप्रत्याशित समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो आपकी कुंडली में पितृ दोष होने की संभावना है। तो अगर आप इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए पितृ दोष को दूर करने का तरीका or (how to get rid of pitra dosh) खोज रहे हैं


तो आपको हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों से संपर्क करना चाहिए, जो        आपको सभी समस्याओं को हल करने के लिए सबसे अच्छा और प्रभावी पितृ दोष निवारन (pitra dosh remedies) प्रदान कर सकते हैं यो भी हिंदी में(pitra dosh in hindi),अब से संपर्क करें @+91 9776190123 या यात्रा: tabij.in

Related posts

Leave a Comment