पितृ दोष क्या है?-जानिए पितृ दोष कैसे जीबन को प्रभाबित कर ताहे

पितृ दोष क्या है?-जानिए पितृ दोष कैसे जीबन को प्रभाबित कर ताहे पितृ दोष पूर्वजों या पूर्वजों का अभिशाप है। यह पूर्वजों का कर्म ऋण है और इसका भुगतान व्यक्ति की कुंडली में पितृ दोष से होता है। अगर आपको पहचानने की ज़रूरत है कि पितृ दोष क्या है? जब परिवार के पूर्वज का उनकी मृत्यु के बाद सही तरीके से अंतिम संस्कार नहीं किया जाता है या यदि उनकी कोई इच्छा उनके जीवन में अधूरी रह जाती है, तो उनकी आत्मा घर और अगली पीढ़ी के बीच भटकती है…

Read More

Pitru Paksha 2020:पितृ दोष के लक्षण और उसके चुटकारा पाने का अचूक उपाय

Pitru Paksha 2020:पितृ दोष के लक्षण और उसके चुटकारा पाने का अचूक उपाय पितृ दोष मनुष्य की कुंडली में मौजूद कई तरह के दोषों में से एक होता है। जिस भी व्यक्ति की कुंडली में पितृ दोष होता है वह जीवन में कठिनाइयों और बहुत सारे उतार-चढ़ाव का अनुभव करता है। बहुत जरूरी है कि आप पितृ दोष के लक्षण को समझें और पितृ दोष निवारण के लिए उपाय करें। पितृ दोष आपकी जन्म कुंडली द्वारा निर्धारित किया जा सकता है। यदि आपकी कुंडली में सूर्य या चंद्रमा के साथ…

Read More

जानिए पितृ दोष क्या है और इससे कैसे छुटकारा पाया जा सकता है

जानिए पितृ दोष क्या है और इससे कैसे छुटकारा पाया जा सकता है ज्योतिष में यह माना जाता है कि पितृ दोष हमारे पूर्वजों से जुड़ा एक दोष है जो किसी भी शरीर के जीवन में मौजूद होने पर बहुत सारी समस्याएं पैदा करता है। पितृ दोष ज्योतिषीय उपाय हमारे जीवन से दूर करने के लिए एक खुशहाल जीवन जीने के सबसे अच्छे तरीके हैं। जब परिवार के पूर्वज का उनकी मृत्यु के बाद सही तरीके से अंतिम संस्कार नहीं किया जाता है या यदि उनकी कोई इच्छा उनके जीवन…

Read More

Pitra dosh: know how to remove it from your horoscope

Pitra dosh: know how to remove it from your horoscope Do you know what Pitru dosh means? And how it can put a great impact on your life? Pitru dosh is one of the most feared doshas in horoscope which can only be clear out through proper astrological remedies. If there is one of the two planets Rahu-Ketu along with the Sun or Moon is placed in one’s horoscope; then that is called Pitra Dosh.  If shraddha of the ancestors has not been performed with proper rituals then the soul…

Read More